हेर बाबा मूट

जब कृषि का कार्य प्रारंभ होता है, यानि खरीफ की खेती करने के समय धान को खेतों में बोने से पहले इसकी पूजा कर ली जाती है. इस दिन ग्राम देवता को मुर्गे की बलि दी जाती है और धान बोना प्रारंभ किया जाता है.

इस दिन खुशियाँ मनाई जाती है. लोग एक दूसरे को खिलाते-पिलाते हैं और नाचते गाते हैं.